Rameshwaram to Dhanushkodi (All India Solo Bike Ride)

अपनी यात्रा में जब मैं Rameshwaram पंहुचा तो मुझे पता था की मुझे कहाँ कहाँ जाना है, इससे पहले 2014 में मैं पहले रामेश्वरम अकेले आ चुका था तो मुझे यहाँ का चप्पा चप्पा पता था, रामेश्वरम पहुचने के बाद मैंने अगले दिन Dhanushkodi जाना था, धनुषकोडी भारत का आखिरी छोर है जहाँ से आगे कुछ 20 किमी दूर #Srilanka शुरू हो जाता है, तो धनुषकोडी तक पहले कोई सड़क नहीं थी केवल भारी 4 बी 4 वाले वाहन उधर जा सकते थे, पर अभी आखिरी छोर तक सड़क बन चुकी है.

सुबह के 4 बजे थे, मैं अपने होटल से निकला, 20 किमी का रास्ता था तो आराम से एक चाय पी मंदिर सुबह सुबह खुल जाता है तो थोड़ी चेहेल पहेल थी और एक दो दुकाने भी खुली हुई थी, चाय वगेरा की, चाय पी और धनुषकोडी की तरफ बढ़ चला!

5 किलोमीटर के बाद एक दम सूनसान रास्ता शुरू हो गया, हालाँकि बस 20 किमी है धनुषकोडी रामेश्वरम से पर सुबह के लगभग 4:30 पर वह इतना सन्नाटा था जैसे कुछ गड़बड़ है यहाँ, तभी अचानक मेरी मोटरसाइकिल की हेडलाइट्स ने जवाब दे दिया, और फोग लैम्प्स भी बंद हो गए, अब मुझे लग रहा था की यहाँ क्यों अँधेरे में नहीं जाते पर मैं आगे बढ़ता रहा, इंडिकेटर चालू किया जिससे थोडा रास्ता मुझे दिखने लगा, अँधेरा इतना घाना था की अगर एक माचिस भी जल जाये तो काफी रौशनी हो जाये, इंडिकेटर बार बार जल बुझ रहा था तो मुझे एक तरकीब सूझी और मैंने अपनी मोबाइल की फ़्लैश लाइट जला के मोटरसाइकिल पर लगा दिया जिससे थोडा और सहस मिला..
धनुषकोडी #GhostTown से करीब 4 किलो मीटर पहले मुझे एक चेक पोस्ट मिला जहा सिर्फ एक ही आदमी था, करीब 5 बज गए थे.
मैंने कहा की मुझे आगे जाना है!
वो बोला , की अभी नहीं जा सकते
मैंने कहा, क्यों?
वो बोला अँधेरे में उधर जाना मना है!
मैंने कहा क्यों?

Dhanushkodi Road from Rameshwaram
वो बोला हमे ऐसा ही बोला गया है की किसी को जाने न दिया जाये, अब मुझे लगा की घोस्ट टाउन बोलते है शायद उससे जुडी कुछ कहानी होगी, मैंने कुछ नहीं बोला और इंतज़ार करने लगा.

धनुषकोडी में #Sunrise करीब 6:10 पर होता है, 5:50 बज गए थे और हल्का सा उजाला हो गया था, मैंने फिर से उससे पूछा, की मैंने आगे जाऊ अब?
वो बोला, अच्छा चले जाओ!

Indira Point Dhanushkodi
रोड एक दम सीधी मानो हवाई पट्टी हो, मैंने पूरी स्पीड में अपनी मोटरसाइकिल दौड़ा दी, और सूर्योदय से पहले उस आखिरी छोर पर पहुच गया!

 

Dhanushkodi Sunrise early morning
Nishant Srivastava

Dhanushkodi Sunrise
समुन्द्र का पानी एक दम शांत और साफ़ था, जैसे समुन्द्र नहीं कोई तालाब है और सामने से निकलता हुआ सूरज देखना एक अद्भुद नज़ारा था.
मेरे पीछे पीछे और लोग भी वह पहुचने लगे, मैंने कुछ तस्वीरें ली और थोड़ी देर बैठा रहा, फिर अपने होटल की तरफ चल दिया जो की रामेश्वरम में था !

#DigitalYatra #Dhanushkodi #Rameshwaram #AllIndiaSoloBikeRide

Share Karlo!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *